Bhaaloo ke bachche – episode 42 – cartoons in Hindi – Moolt Hindi

Bhaaloo ke bachche – episode 42 – cartoons in Hindi – Moolt Hindi


हुए साथ-साथ बाल उठाए हाथों-हाथ साथ-साथ गाने गाए साथ-साथ किताबें पड़े कुछ लिखे कुछ बनाए ये भालू के बच्चे बाल बच्चों को खुश रखे ये भालू के बच्चे ये भालू के बच्चे ! एक छोटा-सा एड्वेंचर क्या बात है! मुझे लगता है, यह कर लेगा! यह कर दिखाएगा! अब, कुछ ज़्यादा हो रहा है! वाह! पचानवे, छियानवे सत्तानवे, अट्ठानवे निन्यानवे, सौ!
हाँ! बाप रे, ब्योर्न! सौ बार! तुमने तो कमाल कर दिया! यह तो कुछ भी नहीं है! मैंने एक बार एक हज़ार बार किया था! अफ़सोस की बात, कोई नहीं था…. क्या मैं कोशिश करूँ? मुझे लगता है, मैं कर सकती हूँ! हाँ, यह लो फ्रेनी! ओह! एक, दो … तीन… अच्छी कोशिश थी! मैंने जान-बूझकर नहीं किया! मैं तुम्हारी बॉल ढूँढ़ देती हूँ. कोई बात नहीं.
मेरे पास एक और बॉल है. बहुत बढ़िया! मुझे दो इसे! मैं देखता हूँ कि
यह दूसरी बॉल फेंकने पर कहाँ जाती है… पहली बॉल भी वही होगी. जाओ, अपने भाई को ढूँढ़ो! तुम बस देखते रहना! यह जा रही है. तो पहली बॉल भी यही आई होगी… मैंने कहा था ना, वह रहीं दोनों बॉल्स! बॉल्स! कहीं कि… बाहर आओ! मैं भी वहाँ नहीं पहुँच पा रही. हाँ, आ नहीं… हम उन्हें ऐसे नहीं निकल सकते. बॉल बहुत छोटी हैं
और हम बहुत ज़्यादा बड़े हैं. क्या कहा? हम बड़े हैं… मेरे पास है बहुत ही गज़ब का आईडिया है! जब ये औज़ार और मेरा दिमाग मिलेगा तो दोस्तो, तुम मान जाओगे
कि साइज सिर्फ़ एक भ्रम है. जिसे बदला जा सकता है.
और यह… हो गया! पेश है अनइनबिग्युलेटिंग डिंगी-ट्रोन! यह हम सबको छोटा करेगा
ताकि हम बॉल्स ला पाएँ! हाँ, एक और बात याद रखना हम में से एक को हमेशा सामान्य रहना है,
कुछ भी हो जाए! बकी, तुम क्या कह रहे हो? तुम्हारी आवाज़ बहुत कम आ रही है… हम में से एक को नॉर्मल रहना बहुत ज़रूरी है! फ़्रेनी, सब ठीक है!
हमें बस यह ऊपरवाला बटन दबाना है. ओह! तुम प्यारे-से टेडी बेयर लग रहे हो! अजीब लग रहा है.
बकी, तुम क्या कह रहे थे? मैं कह रहा था, कि
हम में से एक को नॉर्मल रहना बहुत ज़रूरी है. हाँ, कोई बात नहीं.
फ्रेनी अभी भी नॉर्मल है. -ओह्ह्ह…
-ओह्ह्ह… अच्छा, छोटा बनकर बहुत अच्छा लग रहा है,
थोड़ा-सा अजीब तो है… बहुत बढ़िया, फ्रेनी! अब हम लोगों को नॉर्मल कौन करेगा? बटन तो जैसे अब चाँद पर पहुँच गया है… वह यह रही! अब इन बॉल्स का क्या फ़ायदा? हम इनसे बहुत ही छोटे हो गए हैं. मेरे पास एक प्लान है… यह है अनइनबिग्युलेटिंग डिंगी-ट्रोन… और यह इसका री-इनबिग्युलेशन लीवर. अब अलमारी के ऊपर एक बॉल है… हमें इस अलमारी से बॉल को
लीवर पर गिराना है. मशीन चालू होगी और हम बड़े हो जाएँगे. यह है प्लान! लेकिन हम इतनी ऊँची जगह पर पहुचेंगे कैसे? फ्रेनी जा सकती है.
उसका वज़न कम है. थोड़ा और! बहुत बढ़िया… मैं शैल्फ़ पर पहुँच गई. बस अगर रबर बैंड होता तो
मैं सीधे लीवर पर कूद सकती थी. अरे! चिकी तो अब भी बड़ी है! हम यहाँ हैं, चिकी!
नीचे देखो! वह तो डायनासोर लग रहा है.
चिकी-सौरस रेक्स! नहीं… बीक-सेराटॉप्स! दोस्तो, मुझे लगता उसने पहचाया नहीं… तुम डर क्यों रहे हो?
वह सिर्फ़ चिकी है! वह हमें नुकसान नहीं पहुँचा जाएगा. वह कीड़े-मकोड़े खाता है!
छोटे-छोटे.. हमारे जैसे. यह हमें ज़रूर पहचान लेगा,
ब्योर्न! प्यारी चिकी… ये हम हैं! तुम्हारे दोस्त!
मुझे लगता है… हमें भागना होगा… आ….. विडियो गेम लग रहा है! बकी, हमें अलग हो जाना चाहिए, ठीक है? तुम दोनों चिकी से
अपने आपको बचाके रखना! फ्रेनी तुम्हें बचाएगी! मैं तो हीरो बन गई! क्या बात है! फ्रेनी! फ्रेनी! जल्दी करो! हमें बचाओ! आ….. यह लाइट किसने बंद कर दी? प्यारी चिकी! प्यारी चिड़िया! आख़िर मैंने कर ही दिया! मैं तो हीरो बन गई, है न?
और ये बन गए बड़े! चिड़िया का खाना बनने से बेहतर है
अपने साइज़ में वापस आना… और तुम इधर आओ, छोटी फ्रेनी!
बढ़िया काम किया! हुर्रे! अब मैं क्या बॉल से
दोबारा खेल सकती हूँ? क्यों ना हम लोग बाहर चलें
और गार्डन में फ़्लाइंग डिस्क खेलें? बकी, कैच!
पकड़ो! पकड़ लिया!
यह खेल मुझे बहुत पसंद है! हाँ! ब्योर्न, अभी तुहारी बारी! हाँ!
और ऊप्स! वैसे पेड़ नहीं खेल रहा था! मैं नहीं पहुँच पा रही. यह गलती से हो गया. यह पेंड़ बहुत ज़्यादा बड़ा है,
और हम लोग बहुत छोटे-से हैं. मेरे पास एक गज़ब का आईडिया है!

2 comments / Add your comment below

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *